एयर इंडिया नहीं बिकी तो होगी बंद: केंद्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री

 

नई दिल्ली. केंद्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में कहा है कि अगर एयर इंडिया  नहीं बिकती है तो उसे बंद करना पडे़गा. आपको बता दें कि सरकार ने एयर इंडिया को मार्च 2020 तक बेचने का लक्ष्य रखा है. सरकार ने पिछले साल भी एयर इंडिया में हिस्सेदारी बेचने की कोशिश की थी, लेकिन शर्तों के मुताबिक कोई खरीदार नहीं मिला था.

एयर इंडिया को किया जा सकता है बंद- सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने एयर इंडिया  के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि कंपनी की हालात काफी खराब है. अगर इसका प्राइवेटाइजेशन नहीं होता है तो उसे बंद भी करना पड़ सकता है. एयर इंडिया के सभी कर्मचारियों के हितों का पूरा खयाल रखा जाएगा.

अगर हमने एयर इंडिया का निजीकरण नहीं किया तो इसे ऑपरेट करने के लिए पैसे कहां से आएंगे? इयर इंडिया फर्स्ट क्लास एसेट है और अगर हम इसे बेचें तो बोली लगाने वाले लोग मिलेंगे. अगर हम विचारधारा के बारे में सोचेंगे तो इसे चलाना मुश्किल हो जाएगा.

अभी तक क्यों नहीं बिक पाई एयर इंडिया- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एयर इंडिया की हिस्सेदारी बिक्री को भी पिछले साल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने के पीछे निवेशकों ने शेष 24 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ सरकारी हस्तक्षेप की आशंका जताई थी. लेकिन अब इस शर्त को भी हटा दिया गया है. वित्त वर्ष 2018-19 में 8,400 करोड़ रुपये का जबरदस्त घाटा हुआ है. हालात ये हैं कि एयर इंडिया तेल कंपनियों को ईंधन का बकाया नहीं दे पा रही है. हाल ही में तेल कंपनियों ने ईंधन सप्लाई रोकने की भी धमकी दी थी.

58 हजार करोड़ के कर्ज में दबी है एयर इंडिया- कंपनी पर कुल 58,000 करोड़ रुपये का कर्ज का बोझ है. एयर इंडिया ने पिछले वित्त वर्ष में लगभग 4600 करोड़ रुपये का ऑपरेटिंग नुकसान दर्ज किया. तेल की ऊंची कीमतों और विदेशी मुद्रा के नुकसान के कारण  ऐसा हुआ.