बंशी पहाड़पुर क्षेत्र को बंध बारेठा वन अभ्यारण क्षेत्र से डीनोटिफाई करने का प्रस्ताव

 तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा है कि भरतपुर जिले के बयाना-रूपवास में बंशी पहाड़पुर क्षेत्र में अवैध खनन को रोकने के लिए इस क्षेत्र को बंध बारेठा वन अभ्यारण क्षेत्र से डीनोटिफाई कर उसके स्थान पर नये वन आधारित क्षेत्र को बंध बारेठा वन क्षेत्र में शामिल करने तथा क्षेत्र में खनन को लिगलाईज करने के मामले को मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाया गया है। इससे क्षेत्र में अवैध खनन की रोकथाम होगी वहीं वैध खनन शुरू होने से राज्य सरकार को राजस्व की प्राप्ति होगी। इससे क्षेत्र के हजारों परिवारों के आर्थिक हितों को संरक्षित किया जा सकेगा और लोग बेरोजगार नही होंगे।

तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री ने भरतपुर जिला कलेक्टर को क्षेत्र में अवैध खनन की रोकथाम के लिए मौका मुआयना कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये थे कि बयाना-रूपवास में बंशी पहाड़पुर बंध बारेठा वन अभ्यारण की रेंज में होने से डीनोटिफाई किया जाना चाहिए क्योकि इस क्षेत्र के 20 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में किसी भी प्रकार के पेड़-पौधे नही हैं। उन्होने कहा कि इस क्षेत्र के आगे का क्षेत्र जिस पर वन व पेड़ है उस क्षेत्र को बंध बारेठा वन अभ्यारण क्षेत्र में शामिल किया जाना चाहिए, क्योकि वह क्षेत्र वास्तव में वनक्षेत्र है।

डॉ. सुभाष गर्ग ने भरतपुर जिला कलेक्टर को निर्देशित किया कि वह अपनी अध्यक्षता में खान विभाग, वन विभाग एवं पर्यावरण विभाग की संयुक्त रूप से बैठक आयोजित कर बयाना-रूपवास में बंशी पहाड़पुर क्षेत्र को बंध बारेठा वन अभ्यारण क्षेत्र से डीनोटिफाई करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाया जाना सुनिश्चित करें तांकि भारत सरकार के जरिये उच्चतम न्यायालय में प्रकरण को रखा जा सके।

TAGS