टीम भावना से बनेंगे औद्योगिक विकास में भागीदार-उद्योग आयुक्त श्री अग्रवाल

जयपुर। उद्योग आयुक्त  मुक्तानंद अग्रवाल ने कहा है कि परस्पर सहयोग व समन्वय के साथ टीम भावना से काम करते हुए प्रदेश के औद्योगिक विकास में भागीदारी निभाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक विकास की विपुल संभावनाएं हैं। राज्य सरकार की योजनाओं से जोड़कर युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे। भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी  अग्रवाल ने सोमवार को उद्योग आयुक्त का कार्यभार संभालने के बाद विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से विभागीय योजनाओं, कार्यक्रमों और प्राथमिकताओं पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि युवाओं को कौशल विकास के माध्यम से स्वरोजगार योजनाओं का लाभ दिलाते हुए उद्यमी बनाने की दिशा में कदम बढ़ाए जाएंगे। मुक्तानंद अग्रवाल ने विभाग के ज्वलंत व प्राथमिकताओं वाले बिन्दुओं की भी जानकारी ली। बैठक में अतिरिक्त निदेशक  संजीव सक्सैना, आरके आमेरिया, वित्तीय सलाहकार  युगान्तर कुमार, संयुक्त निदेशक एसएस शाह,  वाईएन माथुर,  संजय मामगेन,  पीएन शर्मा,  सीबी नवल, उपनिदेशक  चिरंजी लाल,  केके पारीक,  धर्मेन्द्र पूनिया,  निधि शर्मा महाप्रबंधक जयपुर शहर  डीडी मीणा, जयपुर ग्रामीण  सुभाष शर्मा ने विस्तार से विभागीय योजनाओं व कार्यकर््रमों की जानकारी दी। 

उद्योग विभाग के उप निदेशक केके पारीक को भाव भीनी विदाई

उद्योग विभाग में सोमवार को उपनिदेशक  के के पारीक को सेवानिवृति पर भावीभीनी विदाई दी गई। उद्योग आयुक्त  मुक्तानंद अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि सकारात्मक सोच और समय पर कार्य निष्पादन से प्राप्त आत्म संतुष्टि सबसे बड़ा पुरस्कार होता है। उद्योग सेवा अधिकारी परिषद के अध्यक्ष  एसएस शाह ने  पारीक के कार्यों की सराहना की।  पारीक ने इस अवसर पर अनुभवाें को साझा किया। विभागीय कर्मचारी कल्याण समिति द्वारा आयोजित विदाई समारोह में सेवानिवृत  पारीक एवं  रमेश गोठवाल को माला, साफा, प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर विभाग के अधिकारी, कर्मचारी व परिजन भी उपस्थित रहे।