पाकिस्तानी हैकर्स के निशाने पर है जयपुर मेट्रो, अलर्ट मिलते ही सरकार ने की एडवाइजरी जारी

 

जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में जयपुर मेट्रो की सुरक्षा को लेकर केन्द्र सरकार ने अलर्ट जारी किया हैं. पाकिस्तानी हैकर्स से जयपुर मेट्रो को साइबर अटैक  का खतरा जताया जा रहा हैं. साइबर हमले से बचने के लिए केंद्र सरकार ने जयपुर मेट्रो को अपनी साइबर सिक्योरिटी  अपडेट करने को लेकर अलर्ट जारी किया है. मेट्रो प्रशासन ने एक्सपर्ट की मदद से साइबर एडवाइजरी बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. हालांकि मेट्रो प्रशासन  की ओर से बताया जा रहा है कि यह अलर्ट देश के सभी मेट्रो प्रशासन को जारी किया गया है.

केन्द्र सरकार नें जयपुर मेट्रो को एडवाइजरी बनाने के दिए निर्देश 

पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. पाकिस्तान कभी सीजफायर उल्लंघन कर रहा हैं तो वहीं अब साइबर हमले कर दहशत फैलाने का काम कर रहा हैं. हाल ही में देश की सुरक्षा एजेन्सियों को मेट्रो की सुरक्षा को लेकर अलर्ट मिला हैं. साइबर हमले के माध्यम से मेट्रो के ऑपरेटिंग सिस्टम  को डेमेज कर बड़ा हमला करने की तैयारी  हैं. केन्द्र सरकार से जयपुर मेट्रो को मिले इनपुट के अनुसार केन्द्र सरकार नें जयपुर मेट्रो रेल प्रशासन को एडवाइजरी बनाने के निर्देश दिए हैं. मेट्रो को साइबर हमले से बचाव के लिए एडवाइजरी मांगी गई हैं.


ट्रेनों को गलत दिशा में भटका भी सकते हैं हैकर्स

साइबर एक्सपर्ट की माने तो ऑपरेटिंग सिस्टम इंटरनेट और इंट्रानेट के जरिए रन होता है. हैकर्स इंटरनेट से रन होने वाले सिस्टम में आसानी से दाखिल हो सकते हैं, ऐसे में हैकर्स कम्प्यूटर नेटवर्क सिस्टम में ट्रॉजन फाइल इन्स्टॉल करके कंट्रोल अपने हाथ में ले लेते हैं और ट्रेनों को गलत दिशा में भटका भी सकते हैं. सरकारी रिकार्ड के अनुसार पिछले 4 साल में पाकिस्तानी हैकर्स 25 सरकारी वेबसाइट्स हैक कर चुके हैं. इनमें पंचायती राज, सिंचाई विभाग, मुख्यमंत्री रिलीफ विभाग, एनीमल हसबेंडरी, गोपालन, आरटीडीसी, माइन्स और कॉलेज एजुकेशन विभाग की वेबसाइट भी शामिल हैं. वहीं साइबर अलर्ट को लेकर केंद्र सरकार से मिले अलर्ट के बाद जयपुर मेट्रो की सुरक्षा बढ़ा दी गई हैं ऑटोमेटिक ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते हैकर्स कंट्रोल अपने हाथ में लेकर स्पीड ओवर या डाऊन कर सकते हैं.