आरएसएलडीसी ने किए 3 बड़े एमओयू, लड़कियों के लिए शुरू होंगे नए कोर्सेज

राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की ओर से गुरुवार को तीन बड़े समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये। ये सभी एमओयू युवाओं एवं महिलाओं को रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर प्रदान करने में सहायक सिद्ध होंगे।

सर्वप्रथम आरएसएलडीसी ने महिला अधिकारिता विभाग के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू पर आरएसएलडीसी के प्रबंध निदेशक श्री बिष्णु चरण मल्लिक एवं महिला अधिकारिता विभाग की आयुक्त श्रीमती रश्मि गुप्ता ने हस्ताक्षर किए। ये एमओयू अध्यक्ष, आरएसएलडीसी श्री नीरज के पवन की अध्यक्षता में हुआ। इस अवसर पर श्री नीरज के पवन ने बताया कि इस समझौते का उद्देश्य खासतौर से महिलाओं एवं बालिकाओं पर केन्दि्रत कौशल विकास कार्यक्रम प्रारंभ करना है। आरएसएलडीसी के प्रयास हैं कि बालिकाओं को कौशल प्रशिक्षण देने के बाद रोजगार एवं स्वरोजगार हेतु भी उनका सहयोग किया जाए। इस एमओयू के अंतर्गत विशेष रूप से महिलाओं की स्किलिंग की जाएगी।

दूसरा एमओयू वर्चुवल प्लेटफॉर्म पर राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय विकास संस्थान निसबड एवं आरएसएलडीसी के बीच किया गया। इस एमओयू में श्री नीरज के पवन एवं श्रीमती नीलम शमी राव, महानिदेशक, राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय विकास संस्थान वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए उपस्थित रहे। तीसरा एवं अंतिम एमओयू ईएमआई एवं आरएसएलडीसी के केंद्र की संकल्प परियोजना के तहत हुआ। ये एमओयू उद्यमिता विकास कार्यक्रम हेतु किया गया।