राज्य सरकार ने ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को अपनाकर शिक्षा को गति प्रदान की -तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान भी शिक्षा की गति में निरंतरता बनाये रखने के लिए राज्य सरकार ने ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को अपनाकर शिक्षा को गति प्रदान की है।

डॉ. गर्ग मंगलवार को भरतपुर के पंचायत समिति सेवर की ग्राम पंचायत मुरवारा एवं ग्राम पंचायत धौरमुई स्थित नव क्रमोन्नत राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों के लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा एवं चिकित्सा क्षेत्र उनकी पहली प्राथमिकता पर है। उन्होंने कहा कि वे क्षेत्र की समस्याओं के समाधान के लिए निरंतर प्रयासरत हैं। ग्राम मुरवारा में उद्बोधन के दौरान उन्होंने कहा कि सरपंच श्री रविपाल सिंह द्वारा पूर्व में रामावि को उच्च माध्यमिक विद्यालय में क्रमोन्नत कराने की मांग एवं शमशान के रास्ते की समस्या के बारे में बताया। इन दोनों समस्याओं का समाधान कर दिया गया है। 

उन्होंने कहा कि विद्यालय में दो कमरों के लिए राज्य सरकार से एवं दो कमरों के लिए समसा परियोजना से निर्माण राशि स्वीकृत करायी जायेगी एवं अन्य कम्प्यूटर, फर्नीचर सहित अन्य सुविधाओं के लिए लुपिन संस्था के माध्यम से मुहैया करायी जायेंगी। उन्होंने कहा कि पेयजल समस्या के समाधान के लिए विधानसभा क्षेत्र के 24 ग्राम पंचायतों को चम्बल पेयजल परियोजना से जोड़कर घर-घर जल सप्लाई की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवा दिये गये हैं जिसकी स्वीकृति के पश्चात कार्य प्रारम्भ हो जायेगा। उन्होंने कहा कि मुरवारा ग्राम के मुख्य रास्ते की पुलिया से लेकर ग्राम के प्रवेश तक सड़क का चौड़ाईकरण कराया जायेगा। उन्होंने शमशान के रास्ते में हो रहे अतिक्रमण की समस्या के समाधान के लिए ग्रामवासियों से कहा कि वे स्वेच्छा सेे आम रास्तों से अतिक्रमण हटा लें अन्यथा जिला प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने आवारा पशुओं की समस्या के सम्बंध में विकास अधिकारी सेवर को निर्देश दिये कि जिन ग्राम पंचायतों में सिवायचक या चारागाह भूमि उपलब्ध हैं वहां गौशाला निर्माण के लिए फैंसिंग कार्य की राशि उनके द्वारा उपलब्ध करा दी जायेगी तथा संचालन स्थानीय ग्रामवासियों की समिति के माध्यम से कराया जायेगा। 

उन्होंने विद्युत समस्या के सम्बंध में कहा कि किसानों के लिए 6 से 7 घंटे तक विद्युत आपूर्ति की जा रही है तथा उनका यह प्रयास है कि किसानों को यह आपूर्ति दिन के समय मिले। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही मुरवारा में पशु चिकित्सा उपकेन्द्र स्वीकृत कराया जायेगा। उन्होंने ग्राम धौरमुई के कार्यक्रम में अपने उद्बोधन में कहा कि ग्राम की विद्युत समस्या के समाधान के लिए 133 केवी जीएसएस निर्माण कराया जायेगा तथा स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्वीकृत करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों के बावजूद भी कोरोना लगातार बढ़ रहा है इसको देखते हुए मुख्यमंत्री ने गांधी जयंती के अवसर पर जन आन्दोलन की शुरूआत कर आमजन को कोरोना की लड़ाई में शामिल करने का प्रयास किया है। उन्होंने आमजन से आग्रह किया है कि वे राज्य व केन्द्र सरकार द्वारा जारी चिकित्सकीय गाईडलाइन की पालना सुनिश्चित करें। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए लुपिन फाउण्डेशन के अधिशाषी अधिकारी श्री सीताराम गुप्ता ने कहा कि भरतपुर जिला शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अखिल भारतीय सेवाओं मेें अलवर जिले से एक प्रतिभागी एवं भरतपुर जिले से 9 प्रतिभागियों का चयन हुआ है तथा इंस्पायर अवॉर्ड योजना में भरतपुर जिले का स्थान विश्वभर में नवें स्थान पर है। उन्होंने कहा कि आधुनिक युग में प्रतिस्पद्र्धा का समय होने के कारण बच्चों को उच्च गुणवत्ता एवं संस्कार युक्त शिक्षा प्रदान करें।